Breaking News

विवाह के दौरान आर्केस्ट्रा में हुई मारपीट, दूल्हा सहित आधा दर्जन लोग घायल

गाजीपुर न्यूज़ टीम, वाराणसी. वाराणसी के बड़ागांव थाना क्षेत्र के गोकुलपुर गांव में मंगलवार की रात डीजे और आर्केस्ट्रा में नाचने को लेकर बारातियों और गांव वालों में जमकर मारपीट हो गयी। मारपीट में दूल्हा एवं उसके भाई समेत आधा दर्जन से ज्यादा बाराती घायल हो गये। मारपीट के बाद विवाह समारोह रोक दिया गया। दूल्हा समेत सभी घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। घायलों का उपचार कराने के उपरांत आज सुबह दूल्हे के चाचा ने आठ नामजद समेत अन्य अज्ञात लोगों के विरुद्ध स्थानीय थाने में तहरीर दिया है। दूल्हे और दुल्हन के स्वजनों के अनुरोध पर पुलिस दोपहर में गांव में पहुंची और पुलिस की मौजूदगी में विवाह हो रहा है। वहीं मुकदमा दर्ज कर पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है।

जानकारी के अनुसार वाराणसी जनपद के कपसेठी थानाक्षेत्र के शिवदासपुर गांव निवासी राजेंद्र कुमार के पुत्र रणवीर चंद्रा की शादी बड़ागांव थाना क्षेत्र के गोकुलपुर गांव निवासी हृदय नारायण की पुत्री पुजा देवी से 23 नवंबर को होनी थी। दूल्हा पक्ष के लोग बारात लेकर दुल्हन के घर पहुंचे और द्वार पूजा के समय डीजे बजाते हुए जाने लगे इसी बीच गांव वालों और बारातियों में डीजे पर नाचने को लेकर हल्की कहासुनी हुई। उस समय लोगों ने समझा बुझाकर मामला शांत करा दिया। उसके बाद देर रात मंडप में शादी हो रही थी वहीं बारातियों के मनोरंजन के लिए थोड़ी दूर पर जनवासे में आर्केस्ट्रा हो रहा था।

आर्केस्ट्रा कार्यक्रम में नर्तकियों के साथ गांव के कुछ लड़के नृत्य करना चाहते थे, जिसे बारातियों ने मना किया। उसके बाद गांव के लड़के एकत्र हुए और फिर बारातियों को मारने लगे। लाठी डंडे के साथ ही ईंट पत्थर भी चले जिससे दूल्हे के सिर में गंभीर चोट लगी और वह गंभीर रूप से घायल हो गया। वहीं दूल्हे का भाई अशोक कुमार, चाचा महेंद्र कुमार, पवन राज, रत्नेश एवं अनिल सहित आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हो गये। इसके बाद  बारात में अफरातफरी का माहौल कायम हो गया, जिससे वैवाहिक कार्यक्रम स्थगित हो गया। घायलों का उपचार स्थित नीजी चिकित्सालय में कराने के बाद दूल्हे के चाचा ने स्थानीय थाने में गोकुलपुर निवासी बृजेश, जयहिंद, भैयालाल, विशाल, दिलीप, कुलदीप, रिंकु एवं वंदना सहित एक दर्जन अज्ञात लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया।

पुलिस की मौजूदगी में लिए साफ फेरे : रात में दूल्हा व अन्य लोगों के घायल होने के बाद शादी स्थगित हो गयी, सुबह दूल्हा और दुल्हन पक्ष के संभ्रांत लोगों ने आपस में बातचीत किया। बातचीत में तय हुआ कि दुल्हन के घरवालों की कोई गलती नहीं है और मारपीट करने वाले गांव के लोग थे। उसके बाद दूल्हा अस्पताल से गांव में पहुंचा और पुलिस की मौजूदगी में दोपहर में विवाह संपन्न हुआ।

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();