Breaking News

गाजीपुर: गंगा व अन्य नदियों में घटाव, बढ़ने लगीं दुश्वारियां

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर गंगा के साथ ही सहायक नदियों के जलस्तर में अब तेजी से घटाव शुरू हो गया है। इससे प्रशासन के साथ ही बाढ़ पीड़ितों ने राहत की सांस ली है। मगर बढ़ती दुश्वारियां उनके चिता का सबब बन गई है। वहीं मवेशियों के लिए चारे का संकट बना हुआ है।

पिछले माह गंगा का जलस्तर बढ़ा तो गहमर, रेवतीपुर, नवली, सायर, वीरऊपुर, हसनपुर नसीरपुर, करंडा, खानपुर इलाकों में पानी घुस गया। लोगों को पलायन करना पड़ा। सैकड़ों बीघा फसल तो बर्बाद हुई ही कई मकान भी गिर गए। कुछ दिनों बाद गंगा ने राहत दी तो अचानक शुरू हुई मूसलधार बारिश से उदंती, बेसो, मंगई नदी उफान पर आ गई। इससे शादियाबाद, बहरियाबाद, रूहीपुर, कटैला, मिट्ठापारा गांव में पानी घुस गया। लोगों को सड़क पर रहना पड़ा।

गंगा के जलस्तर में तेजी से घटाव हो रहा है। शुक्रवार से ही जलस्तर एक सेंटीमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से घट रहा है। दोपहर दो बजे तक 62.670 मीटर जलस्तर रिकार्ड किया गया। केंद्रीय जल आयोग के मुताबिक जलस्तर में घटाव जारी रहेगा।

नदियों के जलस्तर को लेकर ग्रामीण चितित
मनिहारी ब्लाक के सराय गोकुल के लोग अभी भी नदियों के जलस्तर को लेकर चितित हैं। उनका कहना है कि अगर बरसात हुई तो जलस्तर फिर बढ़ने लगेगा। गांव के केदार, रामलाल, सुनील, दशरथ समेत अन्य ग्रामीणों का कहना है कि नदियों के उफान के चलते लाखों रुपये के परवल का पौधा खराब हो गया।

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();