Breaking News

गाजीपुर: गुरुजी बने गाजीपुर के डीएम ओमप्रकाश आर्य

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर जिलाधिकारी ओमप्रकाश आर्य जिले में कार्यभार ग्रहण करते ही समाज के दबे-कुचले लोगों के बच्‍चों को शिक्षित करने का जो मन में बीड़ा उठाया है, गुरुवार को वह मूर्त रुप दिखाई देने लगा है। जिलाधिकारी ने गुरुजी के कुर्सी पर बैठकर खुद बच्‍चों को पढ़ाया और एक-एक चीज की जानकारी ली। इस बात की चर्चा पूरे जिले में जोरों पर है। 

प्राथमिक विद्यालय पहाड़पुर में आंगनबाङी के 30 बच्चों के स्थान पर 5 बच्चे पाये जाने तथा 46 बच्चों के स्थान पर 21 बच्चे पाये जाने पर कङी चेतावनी दी। क्लास में जाकर कक्षा 3 के बच्चो से हिन्दी की पुस्तक पढने के लिए बुलाया तो कोई भी बच्चा एक भी शब्द नही पढ सका। उपस्थिति से अधिक बच्चो को मिड डे मिल मे दिखाये जाने पर कड़ी चेतावनी दी। 

सफाई कर्मियों द्वारा कार्य न करने पर कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी हरिकेश चौरसिया, डीपीआरओ, सैदपुर के उपजिलाधिकारी, खण्ड विकास अधिकारी सहित काफी संख्या में ग्रामीण नागरिक मौजूद थे। जिलाधिकारी एक-एक शौचालय के गड्ढे को खुलवाकर देखने व स्कूल में अध्यापक के रुप में जमकर क्लास लेने से पहाड़पुर ग्राम पंचायत सहित आस पास के गांवों में खलबली मच गयी। 

पहाड़पुर ग्राम पंचायत के दलित बस्ती में बने शौचालय, प्राथमिक विद्यालय सहित अन्य विकास कार्यो का निरीक्षण जिलाधिकारी ने घर-घर जाकर करीब 4 दर्जन शौचालयों का टैंक का गड्ढा खुलवाकर गुणवत्ता का जायजा लिया। अधिकांश शौचालय मानक के अनुरुप न होने पर ग्राम विकास अधिकारी सहित ग्राम प्रधान तथा संबधित अधिकारियों को फटकार लगाते हुए नये सि‍रे से मानक के अनुरुप एक माह के अंदर बनाने के लिए चेतावनी दी।

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();