Breaking News

उत्तर प्रदेश: 14 मेडिकल कालेजों में सामान्य वर्ग के गरीब छात्रों के लिए बढ़ेंगी 399 सीटें

उत्तर प्रदेश के राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान ग्रेटर नोएडा व 14 मेडिकल कालेजों में सामान्य वर्ग के गरीब छात्रों के लिए 399 (ईडब्ल्यूएस) सीटें बढेंगी। सरकार ने इन चिकित्सा संस्थानों में अगले शैक्षिक सत्र से  399  सीटें बढ़ाने का प्रस्ताव मेडिकल कौंसिल ऑफ इण्डिया (एमसीआई) को भेज दिया है।


पिछले साल आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय सैफई और लखनऊ के आरएएमएल इंस्टीट्यूट  में 50-50 और चार पुराने मेडिकल कालेज कानपुर में 50,  प्रयागराज में 60,  झांसी और गोरखपुर में (ईडब्ल्यूएस) की 50-50 सीटें बढ़ी थीं। इस तरह कुल 310 सीटें इन संस्थानों और विश्वविद्यालयों में बढ़ गई थीं। इस साल के शैक्षिक सत्र में पांच नए स्वायत्तशासी मेडिकल कालेज बहराइच, अयोध्या, बस्ती, बहराइच, फिरोजाबाद और शाहजहांपुर में भी 100-100 सीटों से एमबीबीएस पढ़ाई शुरू हो गई। 


इसके अलावा बदायूं और ग्रेटर नोएडा के आयुर्विज्ञान संस्थान को भी इसी साल 100-100 एमबीबीएस सीटें मिली हैं। इनके लिए और अन्य नए आधा दर्जन मेडिकल कालेजों 25-25 ईडब्ल्यूएस की सीटें मांगी गई हैं। इसके अलावा दो पुराने मेडिकल कालेजों आगरा, मेरठ के लिए 37 ईडब्ल्यूएस की सीटें बढ़ाना प्रस्तावित हैं।


संस्थान/ मेडिकल कालेजईडब्ल्यूएस सीटें    कुल सीटें
राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान ग्रेटर नोएडा25125
मेडिकल कालेज, आगरा  37  187
मेडिकल कालेज, मेरठ37187
मेडिकल कालेज, कन्नौज 25125
मेडिकल कालेज, जालौन25    125 
मेडिकल कालेज, अम्बेडकरनगर25 125
मेडिकल कालेज, आजमगढ़  25125
मेडिकल कालेज, बांदा  25  125
मेडिकल कालेज, सहारनपुर25  125 
मेडिकल कालेज, बदायूं25125
मेडिकल कालेज, अयोध्या25125
मेडिकल कालेज, बस्ती25125
मेडिकल कालेज, बहराइच25125
मेडिकल कालेज, फिरोजाबाद25125
मेडिकल कालेज, शाहजहांपुर25125

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();