UP Cabinet Meeting : योगी सरकार की कैबिनेट बैठक आज, घाघरा नदी अब 'सरयू' के नाम से जानी जाएगी - Ghazipur News ✔ | ग़ाज़ीपुर न्यूज़ | Ghazipur Samachar in Hindi ✔

Ghazipur News ✔ | ग़ाज़ीपुर न्यूज़ | Ghazipur Samachar in Hindi ✔

गाजीपुर न्यूज़, ग़ाज़ीपुर ब्रेकिंग न्यूज़, गाजीपुर खेल समाचार, गाजीपुर राजनीति न्यूज़, गाजीपुर अपराध समाचार

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

सोमवार, 13 जनवरी 2020

UP Cabinet Meeting : योगी सरकार की कैबिनेट बैठक आज, घाघरा नदी अब 'सरयू' के नाम से जानी जाएगी

उत्तर प्रदेश सरकार घाघरा नदी का नाम बदलने की तैयारी में है। अब इसका नाम सरयू नदी होगा। नाम बदल कर इसे राजस्व विभाग के अभिलेख में दर्ज किया जाएगा। वैसे इस नदी को कहीं सरयू तो कहीं घाघरा कहा जाता है। सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में होने वाली मंत्रिपरिषद की बैठक में राजस्व विभाग के इस प्रस्ताव को मंजूरी मिलेगी।

इसके अलावा प्रदेश सरकार किसानों व बटाइदारों के लिए एक बड़ी योजना शुरू कर सकती है। इसके लिए कृषक दुर्घटना बीमा योजना में बदलाव कर उसका दायरा बढ़ाया जाएगा। इससें प्राकृतिक आपदा में मृत्यु होने पर उनके आश्रितों को पांच लाख रुपये की आर्थिक मदद मिलेगी। इसके साथ ही इतना ही लाभ दिव्यांग होने पर मिलेगा।



कृषक दुर्घटना बीमा योजना का नाम अब मुख्यमंत्री कृषक कल्याण बीमा योजना होगा। आग, बाढ़, बिजली गिरने, करेंट लगने, जीव- जंतु के काटने से मरने, नदी- कुएं में डूबने, आंधी-तूफान में मकान, पेड़ गिरने से दब कर मरने की स्थिति में उनके आश्रितों को भी इसका लाभ मिलेगा। इसमें दिव्यांग होने पर भी किसानों को पांच लाख रुपये मिलेंगे। इस योजना के दायरे में चार करोड़ किसान व बटाइदार आएंगे। इसके लिए आवेदन आनलाइन भी लिए जाएंगे।



इसके अलावा पुलिस विभाग के पूर्व निर्मित भवनों को निष्प्रयोज्य घोषित कर उनके घ्वस्तीकरण के प्रस्ताव को हरी झंडी दी जाएगी। बरेली में बस स्टेशन का निर्माण कराने  के लिए मिनी बाईपास पर केंद्रीय कारागार और नगर निगम बरेली की खाली जमीन परिवहन विभाग को नि:शुल्क दिए जाने का प्रस्ताव भी कैबिनेट में आएगा। प्रयागराज में निर्माणाधीन कारागार को पूरा कराने के लिए पुनरीक्षित लागत को मंजूरी दी जाएगी। उन्नाव के थाना कोतवाली सदर के तहत दही पुलिस चौकी उच्चीकृत कर वहां नया मार्डन पुलिस थाना बनेगा।  इसके लिए यूपीएसआईडीसी से जमीन नि:शुल्क गृह विभाग को दिलाई जाएगी। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();

Post Top Ad