Breaking News

INDvsNZ : 347 रन भी नहीं बचा सकी टीम इंडिया, रॉस टेलर के धमाकेदार शतक से वनडे सीरीज में न्यूजीलैंड का विजयी आगाज

टीम इंडिया (Team India) से मिले 348 रन के लक्ष्य को न्यूजीलैंड (New Zealand) ने रॉस टेलर (Ross Taylor) के नाबाद शतक की बदौलत 6 विकेट खोकर 49वें ओवर में ही हासिल कर लिया.

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने शायद सही कहा था. न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 सीरीज भले ही टीम ने 5-0 से अपने नाम कर ली, लेकिन वनडे सीरीज अलग होगी. वनडे सीरीज अलग ही है. तभी तो न्यूजीलैंड ने तीन मैचों की सीरीज का पहला ही मुकाबला धमाकेदार अंदाज में चार विकेट से अपने नाम किया. टीम इंडिया ने टॉस हारने के बाद हैमिल्टन वनडे में चार विकेट पर 347 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया, लेकिन रॉस टेलर के विस्फोटक शतक और टॉम लाथम की 48 गेंदों पर 69 रनों की ताबड़तोड़ पारी की बदौलत टीम ने 48.1 ओवर में 6 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया. रॉस टेलर 84 गेंदों पर 109 रन बनाकर नाबाद लौटे. अपने वनडे करियर के 21वें शतक में रॉस टेलर ने 10 चौके और 4 छक्के लगाए. इसके साथ ही न्यूजीलैंड ने तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली. सीरीज का दूसरा मुकाबला 8 फरवरी को ऑकलैंड में खेला जाएगा.


गप्टिल और निकोल्स ने दिलाई टीम को जोरदार शुरुआत
भारत से मिले 348 रन के विशाल लक्ष्य का पीछा करते हुए मार्टिन गप्टिल और हेनरी निकोल्स ने टीम को बेहतरीन शुरुआत दिलाई. दोनों ने पहले विकेट के लिए 85 रन की साझेदारी की. शार्दुल ठाकुर ने गप्टिल को 32 रन के स्कोर पर केदार जाधव के हाथों कैच कराया. इसके बाद डेब्यू कर रहे टॉम ब्लंडेल भी 9 रन बनाकर कुलदीप यादव की गेंद पर स्टंप आउट हो गए. इन दो झटकों के बाद हेनरी और रॉस टेलर ने पारी को आगे बढ़ाया. दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 60 रन की साझेदारी की. मगर इसके बाद हेनरी 82 गेंदों पर 78 रन बनाकर रन आउट हो गए. उन्होंने अपनी पारी में 11 चौके लगाए. हेनरी को विराट कोहली ने जबरदस्त अंदाज में रन आउट किया. उनके इस रनआउट को दुनिया के सर्वश्रेष्ठ क्षेत्ररक्षक जोंटी रोड्स के स्तर की फील्डिंग बताया जा रहा है.

टेलर और लाथम ने पहुंचाया जीत के दरवाजे तक
तीन विकेट 171 रन पर गिरने के बाद अनुभवी रॉस टेलर और टॉम लाथम ने न्यूजीलैंड को जीत के दरवाजे तक पहुंचाने का काम किया. दोनों ताबड़तोड़ अंदाज में रन बनाए. चौथे विकेट के लिए दोनों के बीच 138 रनों की साझेदारी हुई. हालांकि टॉम लाथम भी 42वें ओवर की चौथी गेंद पर कुलदीप यादव की गेंद पर मोहम्मद शमी को कैच थमा बैठे. लाथम ने 48 गेंदों में 49 रन बनाए. इस पारी में उन्होंने 8 चौके और 2 छक्के जड़े. इसके बाद जिम्मी नीशम और कॉलिन डी ग्रैंडहोम भी जल्दी आउट हो गए. रॉस टेलर ने इसके बाद मिचेल सैंटनर के साथ मिलकर टीम को जीत दिला दी. सेंटनर 9 गेंद पर 12 रन बनाकर नाबाद रहे.

पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल ने दिलाई भारत को ठोस शुरुआत
टॉस हारने के बाद भारतीय टीम (Indian Team) की नई ओपनिंग जोड़ी पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) और मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) ने टीम को तेज शुरुआत दिलाई. दोनों ने महज 48 गेंदों में ही 50 रन जोड़ लिए. हालांकि दोनों ही बल्लेबाज पांच गेंद के भीतर अपने विकेट गंवा बैठे. भारत का स्कोर इस समय दो विकेट पर 54 रन था. पृथ्वी शॉ ने कोलिन डि ग्रैंडहोम की गेंद पर विकेट के पीछे कैच थमाया जबकि मयंक अग्रवाल ने टिम साउदी की गेंद पर प्वाइंट में ब्लंडेल को कैच दिया. भारतीय क्रिकेट इतिहास में ये चौथा ही मौका है जब किसी एक वनडे में दोनों ओपनर डेब्यू करने उतरे. इससे पहले, 1974 में सुनील गावस्कर और सुधीर नाईक, 1976 में पार्थसारथी शर्मा और दिलीप वेंगसरकर, 2016 में केएल राहुल और करुण नायर ने एक ही  वनडे में बतौर ओपनर डेब्यू किया था.
श्रेयस अय्यर और विराट ने संभाला मोर्चा
दो विकेट 54 रन पर गिरने के बाद श्रेयस अय्यर (Shreuas Iyer) और कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने पारी को आगे बढ़ाया. दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 102 रन की बेहतरीन साझेदारी की. इस दौरान टीम इंडिया ने 150 रन 28वें ओवर में पूरे कर लिए. हालांकि 156 रनों के स्कोर पर भारत को विराट कोहली के रूप में तीसरा झटका लगा. उन्हें ईश सोढ़ी ने शानदार गुगली पर बोल्ड आउट किया. विराट ने 63 गेंदों पर 6 चौकों की मदद से 51 रन बनाए. ये उनका 58वां अर्धशतक था.

श्रेयस के करियर का पहला वनडे शतक
विराट (Virat Kohli) के आउट होने के बाद पांचवें नंबर पर उतरे केएल राहुल ने श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) के साथ तूफानी गति से खेल को आगे बढ़ाया. दोनों बल्लेबाजों ने बेहद कम समय में 136 रन की साझेदारी कर डाली. इस दौरान श्रेयस अय्यर ने अपना पहला वनडे शतक पूरा किया. हालांकि वो 83 रनों पर थे तब कॉलिन डी ग्रैंडहोम ने उनका आसान सा कैच टपका दिया. शतक पूरा करने के बाद श्रेयस 46वें ओवर में पवेलियन लौट गए. उन्होंने 107 गेंदों में 103 रन बनाए. इस पारी में उनके बल्ले से 11 चौके और एक छक्का निकला. श्रेयस के आउट होने के वक्त केएल राहुल (KL Rahul) 52 गेंदों पर 63 रन बनाकर खेल रहे थे.

राहुल-जाधव ने की तूफानी साझेदारी
श्रेयस (Shreyas Iyer) के आउट होने के बाद भी केएल राहुल (KL Rahul) की तूफानी पारी जारी रही और उन्हें केदार जाधव (Kedar Jadhav) के रूप में अच्छा जोड़ीदार भी मिला. दोनों ने पांचवें विकेट के लिए 27 गेंदों पर 55 रनों की अटूट साझेदारी की. केएल राहुल 64 गेंदों पर 88 रन बनाकर नाबाद लौटे. इस ताबड़तोड़ पारी में उन्होंने 3 चौके और छह छक्के जड़े. वहीं केदार जाधव ने 3 चौकों और एक छक्के की मदद से 15 गेंदों पर नाबाद 26 रन बनाए. इस तरह टीम ने चार विकेट पर 347 रनों का स्कोर खड़ा किया. भारत ने आखिरी दस ओवर में 96 रन बनाए, जबकि आखिरी 20 ओवर में 191 रन जड़ डाले.


पिछले दौरे पर टीम इंडिया ने 4-1 से जीती थी वनडे सीरीज
भारत और न्यूजीलैंड (India vs New Zealand) के बीच पिछली बार साल 2018 में द्विपक्षीय वनडे सीरीज हुई थी. तब विराट कोहली (Virat Kohli) की अगुआई में भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड का दौरा किया था. दिलचस्प बात है कि तब भारतीय टीम ने पांच मैचों की वनडे सीरीज 4-1 से अपने नाम की थी. टीम ने शुरुआती तीन मैचों में जीत दर्ज की, जबकि चौथे में उसे हार का सामना करना पड़ा. वहीं पांचवें मैच में फिर से टीम इंडिया का परचम लहराया.

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();