Breaking News

पैसे को लेकर ANM और दाई आपस में भिड़ीं, CMO बोले- जांच कर होगी कार्रवाई - Ghazipur News

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर. गाजीपुर जिले के कासिमाबाद क्षेत्र के सोनबरसा मातृत्व एवं शिशु केंद्र पर अवैध वसूली को लेकर दाई और एएनएम आपस में भिड़ गईं। डिलीवरी के पैसों को लेकर दोनों में कहासुनी हुई। बात इतनी बढ़ गई कि दोनों ने भीड़ के सामने सिस्टम की पोल खोल कर रख दी। स्वास्थ्य विभाग के कर्मी डिलीवरी के बदले कितने रुपए लेते हैं, यह सच्चाई भी सामने आ गई। सीएमओ ने मामले में जांच कराकर कार्रवाई की बात कही है।

कासिमाबाद क्षेत्र में मातृ एवं शिशु उपकेंद्र सोनबरसा पर गुरुवार की देर शाम एएनएम और दाई के बीच डिलीवरी के पैसों को लेकर आपस में विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा कि दोनों ने स्वास्थ्य विभाग में हो रहे भ्रष्टाचार की बखिया उधेड़ दी।

दाई का एनएएम पर आरोप

दाई ने बताया कि 4 महीने पूर्व एएनएम ने मुझे यहां पर ट्रेनिंग देने के लिए रखा था। मैं मरीजों की देखभाल और डिलीवरी कार्य में सहयोग करती हूं। इस दौरान एएनएम द्वारा प्रति डिलीवरी 3000 से लेकर 5000 की वसूली की जाती है। यही नहीं इस केंद्र पर आशाओं को प्रतिदिन एंबुलेंस के माध्यम से लाया जाता है। गर्भवती महिलाओं और उनके परिजनों से वसूली गई रकम में से आशा अपना कमीशन ₹700 और एंबुलेंस चालाक 200 से ₹500 तक लेते हैं। एएनएम बहादुरगंज बस स्टैंड स्थित एक निजी अस्पताल के लिए भी काम करती हैं। जहां गर्भवती महिलाओं को क्रिटिकल बताकर रेफर कराने के बाद, उनका सिजेरियन कराती है।

सीएमओ के संज्ञान में मामला सामने आने पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कासिमाबाद प्रभारी डॉ राजेश कुमार को शिकायत पत्र सौंपने को बोला गया। सीएमओ ने अपने वाट्सएप पर भी शिकायती पत्र मंगवाया। मुख्य चिकित्सा अधिकारी हरि गोविंद सिंह ने बताया कि प्रकरण गंभीर है। जांच कराकर मामले में कार्रवाई की जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();