Breaking News

पेशी के बाद दिए गए अनर्गल बयान के कारण पूर्व विधायक विजय मिश्रा के विरुद्ध FIR दर्ज, 7 पुलिसकर्मी निलंबित

गाजीपुर न्यूज़ टीम, मिर्जापुर. न्यायालय में पेशी पर आए ज्ञानपुर के पूर्व विधायक बाहुबली विजय मिश्रा सहित अन्य पर विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया गया है। इस मामले में पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार मिश्रा ने निरीक्षक सहित सात पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया है, जबकि आगरा पुलिस कमियों पर कार्रवाई के लिए वहां के एसपी को लिखा गया है।

आगरा पुलिस रंगदारी के मामले में ज्ञानपुर के पूर्व विधायक बाहुबली विजय मिश्रा को विंध्याचल के अवनीश मिश्रा से 15 लाख रुपये रंगदारी मांगने के आरोप में एसीजेएम कोर्ट में पेशी के लिए शुक्रवार को ले आई थी। यहां पेशी के बाद बाहर निकलने के दौरान पूर्व विधायक ने सरकार और एडीजी पर फर्जी मुकदमे में फंसाने व हत्या करने का आरोप लगाया था।

इस मामले को देखते हुए कचहरी सुरक्षा में तैनात निरीक्षक अभय नारायण तिवारी ने शहर कोतवाली में पूर्व विधायक के विरुद्ध तहरीर दी। पुलिस ने तहरीर के आधार पर विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर लिया। आरोप है कि पूर्व विधायक ने पेशी के बाद पुलिस के कार्यों में बाधा पहुुंचाई। इसके अलावा अनर्गल बयानबाजी भी की।

अनर्गल बयानबाजी करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया

पूर्व विधायक पर सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने व अनर्गल बयानबाजी करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है। लापरवाही बरतने पर सात पुलिस कर्मियों को निलंबित किया गया है। आगरा पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई के लिए वहां के एसपी को लिखा गया है।-संतोष कुमार मिश्रा, पुलिस अधीक्षक

15 लाख रुपये रंगदारी मांगने के मामले में शुक्रवार को मीरजापुर के एसीजेएम कोर्ट में पेशी हुई

ज्ञानपुर के पूर्व विधायक विजय मिश्रा की विंध्याचल निवासी पुरोहित अवनीश मिश्रा से 15 लाख रुपये रंगदारी मांगने के मामले में शुक्रवार को मीरजापुर के एसीजेएम कोर्ट में पेशी हुई। उनका बयान दर्ज करने के लिए कोर्ट ने उनको पांच अगस्त को तलब किया था। पेशी के बाद कोर्ट से बाहर निकलने पर उन्होंने झूठे मुकदमे में फंसाने का आरोप लगाया।

ज्ञानपुर के पूर्व विधायक विजय मिश्रा पर विंध्याचल के पुरोहित अवनीश मिश्रा से 19 अगस्त 2020 में 15 लाख रुपये की रंगदारी मांगने के आरोप में विंध्याचल थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था। उसी मामले में उनका मुकदमा एसीजेएम के यहां चल रहा है। इन दिनों विजय मिश्रा आगरा के जेल में बंद हैं। इससे पहले उनकी पेशी वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए होती थी, लेकिन एसीजेएम आनंद उपाध्याय ने पांच अगस्त को पूर्व विधायक का बयान लेने के लिए तलब किया था। कोर्ट के आदेश पर आगरा पुलिस उनको मिर्जापुर कोर्ट में ले आई थी।

शुक्रवार को स्थानीय और आगरा की पुलिस पूर्व विधायक को कड़ी सुरक्षा में ब्रज वाहन से लेकर एसीजेएम कोर्ट पहुंची। वहां उनका बयान दर्ज किया गया। कोर्ट से बाहर निकालने के बाद मीडिया से बात करते हुए पूर्व विधायक ने आरोप लगाया कि विपक्षियों के इशारे पर सरकार पुलिस के बल पर उन पर लगातार झूठे आरोपों में मुकदमे दर्ज करा रही है। राजनीति में होने के कारण उनका संबंध सभी से रहा है। जहां तक मुख्तार अंसारी की बात है तो उनसे 1998 के बाद कभी न बात हुई और न ही मुलाकात हुई। आतंकवादी घोषित कर सरकार उनके सहित पूरे परिवार की हत्या कराना चाहती है। इसमें एडीजी लॉ एंड आर्डर व ज्ञानपुर के एक पूर्व एसपी साथ दे रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();