गाजीपुर: शब-ए-आशूर की मजलिस हुई संपन्न - Ghazipur News ✔ | ग़ाज़ीपुर न्यूज़ | Purvanchal News | UP Samachar in Hindi ✔

Ghazipur News ✔ | ग़ाज़ीपुर न्यूज़ | Purvanchal News | UP Samachar in Hindi ✔

गाजीपुर न्यूज़, Ghazipur News, Purvanchal News, Uttar Pradesh News, UP Breaking News

Breaking News

Post Top Ad

Post Top Ad

मंगलवार, 10 सितंबर 2019

गाजीपुर: शब-ए-आशूर की मजलिस हुई संपन्न

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर मोहल्ला तुलसी का पुल काजीमंडी स्थित  इमामबाड़ा वा सार्वजनिक सहन सलमा बीबी में हर साल की तरह इस साल भी रजिस्टर्ड शब ए आशूर की मजलिस का कार्यक्रम आयोजित हुआ। जिस में सबसे पहले सोज़खवानी हुई। उसके बाद जनाब शोजीब अब्बास गाजीपुरी जनाब मोहम्मद अब्बास नकवी अमरोहवी जनाब तुबा और तमाम शायर ए अहले बैत ने पेशखवानी की उसके बाद मजलिस को खिताब फरमाया। हुज्जतुल इस्लाम मौलाना तनविरुल हसन ज़ैनाबी साहब इमाम ए जुमा वा जमात शहर गाजीपुर ने जिसमें उन्होंने कहा कि यह रात ज़िन्दगी ए इस्लाम को बचाने वाली रात है इस में नबी मोहम्मद साहब के नवासे इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम ने अपना भरा घर कुर्बान कर दिया। 

दिन ए इस्लाम को बचाने के लिए और उस वक़्त का बादशाह यजीद जिसको दुनिया का पहला आतंकवादी कहा जाता है। उसके सामने सर कटवा दिया लेकिन सर को झुकने नहीं दिया। मौलाना ने कहा ये शबे आशूर की रात परवरदिगार की बारगाह में इबादत की रात है।   उसके बाद गाज़ी अब्बास का अलम बरामद हुआ। फिर अंजुमन ए हुसैनिया नखास खुदाईपूरा ने मातम सीनाजानी किया और लखनऊ से आए नौहाखॉ जनाब आरिश हसन ने नौहा पढ़ा और अपने मौला हुसैन अस को पुर्सा पेश किया और शासन और  प्रशासन की देख रेख में यह कार्यक्रम शांतिपूरवक संपन्न हुआ। कार्यक्रम को आयोजित करने वाली सलमा बीबी वा उनके पुत्रगण ने उत्तर प्रदेश शासन सीएम योगी आदित्यनाथ जी और उनकी मुस्तैद प्रशासन  का शुक्रिया अदा किया।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();

Post Top Ad