Breaking News

रातों रात नहीं लाए CAA, युवा समझ गए लेकिन नेता समझना नहीं चाहते- बेलूर मठ में बोले PM मोदी

स्वामी विवेकानंद की जयंती पर पीएम बेलूर मठ पहुंचे थे. जहां उन्होंने रात्रि विश्राम किया और रविवार सुबह उन्होंने मठ में ध्यान भी लगाया.
स्वामी विवेकानंद की जयंती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पश्चिम बंगाल में बेलूर मठ पहुंचे. पीएम मोदी ने यहां अपने संबोधन में नागरिकता कानून पर कहा, “नागरिकता अधिनियम किसी की नागरिकता लेने का नहीं बल्कि नागरिकता देने का कानून है, और सिटीजनशिप अमेंडमेंट एक्ट (CAA), उस कानून में सिर्फ एक संशोधन है.”


मोदी ने कहा, ” CAA को लेकर देश भर में चर्चा हो रही है. यह कानून रातों रात नहीं लाया गया बल्कि इस पर काफी चर्चा हुई और संसद के जरिए इसमें संशोधन किया गया है. लेकिन इसे लेकर युवाओं में भ्रम फैलाया जा रहा है.”

उन्होंने कहा, “इस कानून में नागरिकता लेने के लिए सहूलियत बढ़ाई गई है. आजादी के बाद, महात्मा गांधी और उस समय के बड़े नेताओं का मानना था कि भारत को पाकिस्तान में धर्म के आधार प्रताड़ना झेलने वाले लोगों को नागरिकता देनी चाहिए.”

विपक्ष पर निशाना साधते हुए PM मोदी ने कहा, “क्या शरणार्थियों के प्रति हमारी कोई जिम्मेदारी नहीं है? इस कानून पर इतनी स्पष्टता के बाद भी कुछ लोग युवाओं के बीच इसे लेकर भ्रम फैला रहे हैं.” मोदी ने आगे कहा, “आपने इसे बहुत स्पष्ट रूप से समझा, लेकिन राजनीतिक खेल खेलने वाले लोग जानबूझकर इसे समझना नहीं चाहते हैं.”


बेलूर मठ में PM मोदी का संबोधन
  • पश्चिम बंगाल की धरती से एक बार फिर से लोगों को आश्वस्त करना चाहूंगा कि ये कानून नागरिकता देने के लिए बना है. छीनने के लिए नहीं.
  • इस कानून के जरिए हम उन लोगों की मदद कर रहे हैं जो पड़ोसी देशों में अपनी धार्मिक आस्था के चलते प्रताड़ित किए गए.
  • स्वामी विवेकानंद की जयंती पर उन्हें याद करते हुए मोदी ने कहा, “हमें हमेशा स्वामी विवेकानंद जी की इस बात को याद रखना चाहिए कि मुझे 100 ऊर्जावान युवा दें और मैं भारत को बदल दूंगा.”
  • युवा जोश, युवा ऊर्जा ही 21वीं सदी के इस दशक में भारत को बदलने का आधार है. नए भारत का संकल्प, आपके द्वारा ही पूरा किया जाना है. ये युवा सोच ही है जो कहती है कि समस्याओं को टालो नहीं, उनसे टकराओ, उन्हें सुलझाओ.
  • यहां आना मेरे लिए सौभाग्य की बात है. मैं साधु-संतों के साथ यहां की सरकार का भी धन्यवाद करना चाहता हूं जिन्होंने मुझे इस पवित्र भूमि पर रात गुजारने के लिए अनुमति दी.
  • पीएम ने कहा, “पिछली बार जब यहां आया था तो गुरुजी, स्वामी आत्मआस्थानंद जी का आशीर्वाद लेकर गया था. आज वो शारीरिक रूप से हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन उनका काम, उनका दिखाया मार्ग, रामकृष्ण मिशन के रूप में सदा हमारा मार्ग दर्शन करता रहेगा.


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार रात पश्चिम बंगाल के हावड़ा स्थित रामकृष्ण मिशन के मुख्यालय में स्थित बेलूर मठ पहुंचे. जहां उन्होंने रात्रि विश्राम किया और रविवार सुबह उन्होंने मठ में ध्यान भी लगाया. इस मठ की स्थापना स्वामी विवेकानंद ने 1 मई 1897 में की थी. इसके पीछे उनका उद्देश्य ऐसे साधुओं और सन्यासियों को संगठित करना था, जो रामकृष्ण परमहंस की शिक्षाओं में गहरी आस्था रखते हैं. इससे पहले पीएम मोदी ने कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट की 150वीं सालगिरह के जश्न के कार्यक्रम में हिस्सा लिया.

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();