Breaking News

वाराणसी-पटना वाया गाजीपुर के बीच चलेगी मेमू पैसेंजर ट्रेन, जाने बक्सर, गाजीपुर में कितने बजे पहुंचेगी ये ट्रेन, देखें टाइम टेबल

गाजीपुर न्यूज़ टीम, गाजीपुर. कोरोना का प्रभाव कम होते ही यात्रियों की सुविधा के लिए लगातार ट्रेनों का संचालन तेज किया जा रहा है। इसी क्रम में अब पटना से गया और पटना से वाराणसी के बीच मेमू ट्रेन चलाने का निर्णय लिया गया है। इससे दैनिक यात्रियों सहित व्यापारियों एवं छात्र-छात्राओं को आने-जाने में सहूलियत होगी।

पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि  यात्रियों की सुविधा के लिए 15 सितंबर से पटना से गया के बीच दो जोड़ी और 16 से पटना से वाराणसी के बीच एक जोड़ी मेमू ट्रेन  चलाया जाएगा। इन पैसेंजर स्पेशल ट्रेन से यात्रा के दौरान यात्रियों को कोविड-19 के मानकों का पालन करना आवश्यक होगा।

15 सितंबर से पटना से सुबह 06.30 बजे खुलकर मेमू 09.15 बजे गया पहुंचेगी। इसी तरह दूसरी मेमू पटना से दोपहर पौने दो बजे खुलकर शाम साढ़े चार बजे गया पहुंचेगी। इसी तरह गया पटना मेमू पहली ट्रेन सुबह दस बजे खुलकर दोपहर 12.50 बजे पटना पहुंचेगी। इसी तरह दूसरी ट्रेन पटना से शाम छह बजे खुलकर सभी छोटे बड़े स्टेशनों पर रुकते ही रात 20.50 बजे पटना पहुंचेगी।

इसी तरह पटना वाराणसी मेमू 16 सितंबर से प्रतिदिन पटना से सुबह 05.45 खुलकर दोपहर 13.10 बजे वाराणसी पहुंचेगी। वहीं वाराणसी से शाम तीन बजे खुलकर रात 12 बजकर पांच मिनट पर पटना पहुंचेगी। 

बक्सर, गाजीपुर में इतने बजे पहुंचेगी ट्रेन

ट्रेन संख्या 03298 अप पटना जंक्शन से सुबह 5:54 बजे खुलकर सभी छोटे-बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए बक्सर स्टेशन सुबह 9:05 बजे पहुंचेगी। वहां से 9:10 बजे खुलकर सभी स्टेशनों पर रुकते हुए दिलदारनगर स्टेशन सुबह 10 बजे पहुंचकर 10:02 पर खुलकर 10: 17 बजे स्थानीय स्टेशन पहुंचेगी और 10:19 बजे खुलकर वाराणसी 1:10 बजे पहुंचेगी।

03289 बनकर वाराणसी से दिन में तीन बजे खुलकर 4: 20 बजे डीडीयू पहुंचकर 4: 30 बजे खुलेगी। शाम 5: 47 बजे दिलदारनगर स्टेशन पहुंचकर 5:49 बजे खुलकर बक्सर स्टेशन पर 19:10 बजे पहुंचेगी। 19: 15 पटना को रवाना होगी और रात 12: 05 बजे पहुंचेगी। 

अवैध सॉफ्टवेयर से तत्काल ई-टिकट बनाने वाले गिरोह का भंडाफोड़

अवैध सॉफ्टवेयर के माध्यम से ट्रेन का तत्काल ई टिकट निकालने वाले गिरोह का भंडाफोड़ हो गया। एटीएस बिहार के सहयोग से रेलवे सुरक्षा बल और क्राइम ब्रांच की टीम ने साफ्टवेयर संचालक सहित चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया। वरीय मंडल सुरक्षा आयुक्त आशीष मिश्र ने मंगलवार को मामले का खुलासा किया। 

कुछ दिनों पहले पीडीडीयू नगर के काली महाल में जनसेवा केंद्र चलाने वाले इश्तियाक अहमद और उसके भतीजे शहीम को पकड़ा गया था। उसके पास से अवैध आईआरसीटीसी सॉफ्टवेयर के साथ 75 व्यक्तिगत आईआरसीटीसी यूजर एकाउंट मिला था। इससे उसने लगभग 1200 ई टिकट बनाए थे।

दोनों की निशानदेही पर सारण जिला स्थित दिघवारा क्षेत्र से विजय उर्फ शिवा और  वाराणसी स्थित परसारा गांव से विकास सिंह को अवैध सुपर पैनल सॉफ्टवेयर की खरीद बिक्री करने एवं उसके माध्यम से तत्काल टिकट निकालने वालों को गिरफ्तार किया गया।

इनके पास से अवैध सॉफ्टवेयर, बूस्टर, एक्सटेंशन , वीपीएस, आईपी के साथ 222 आईआरसीटीसी के फर्जी यूजर अकाउंट तथा 606 अवैध ई टिकट बरामद हुए। इसका मूल्य 11,99,713  रुपये है। सभी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। वरीय मंडल सुरक्षा आयुक्त आशीष मिश्र ने बताया कि रेलवे सुरक्षा बल अवैध टिकट दलालों के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है। ई-टिकटिंग के मामले में रेलवे सुरक्षा बल साइबर सेल की ओर से जांच की जा रही है।

कोई टिप्पणी नहीं

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();